फ्लाइंग कार

4 मिनट तक करीब 6 फीट उंचाई पर उड़ी फ्लाइंग कार, कंपनी बोली- 2023 तक तैयार हो जाएगी; इतने मिनट होगी इसकी रेंज

उड़ने वाली कार पर पिछले कई सालों से कई कंपनियां काम कर रही हैं, लेकिन अब ये सपना साकार होने वाला है। यानी जल्द ही आम आदमी की पहुंच उड़ने वाली कार तक होगी। दरअसल, जापान की कंपनी स्काइड्राइव इंक (SkyDrive Inc.) ने अपनी कार का सफल परीक्षण किया है।

एक प्रेस कॉन्फेंस में कंपनी ने कार के उड़ने वाला वीडियो दिखाया। वीडियो में कार जमीन से 2 मीटर (करीब 6.5 फीट) तक की उंचाई पर उड़ती दिखाई दी। वहीं, कार एक फिक्स एरिया में करीब 4 मिनट तक हवा में रही। स्काइ-ड्राइव के इस प्रोजेक्ट के हेड तोमोहिरो फुकुजावा ने कहा कि उन्हें 2023 तक उड़ने वाली कार के फाइनल प्रोडक्ट के तौर पर सामने आने की उम्मीद है। उनके मुताबिक, इसे सुरक्षित बनाना एक बड़ी चुनौती होगी।

कई लोग उड़ाना चाहते हैं ऐसी कार
प्रेस कॉन्फ्रेंस में तोमोहिरो फुकुजावा ने कहा कि दुनियाभर में उड़ने वाली कार को लेकर 100 से ज्यादा कंपनियों के प्रोजेक्ट चल रहे हैं। कई कंपनियां अपने प्रोजेक्ट में एक व्यक्ति को लेकर उड़ान भरने में सफल भी रही हैं। हमें इस बात की उम्मीद है कि उड़ने वाली कार को चलाने वाले कई लोग हैं, लेकिन वे इसे उड़ाने के दौरान खुद को सुरक्षित महसूस करना चाहते हैं।

30 मिनट तक उड़ेगी कार
उन्होंने कहा कि अभी ये कार 5 से 10 मिनट ही उड़ सकती है, लेकिन इसकी उड़ान समय को बढ़ाकर 30 मिनट किया जा सकता है। इन्हें चीन जैसे देशों में निर्यात भी किया जा सकता है।

इन कंपनियों ने की फंडिंग
स्काइड्राइव प्रोजेक्ट पर 2012 में एक स्वैच्छिक परियोजना के तौर पर काम शुरू किया गया था। इस प्रोजेक्ट में जापान की ऑटोमोबाइल कंपनी टोयोटा मोटर कॉर्प, इलेक्ट्रॉनिक कंपनी पैनासोनिक कॉर्प और वीडियो गेम कंपनी बैनडाई नामको (Bandai Namco) ने फंडिंग की है। 3 साल पहले भी इस कार का एक परीक्षण किया गया जो असफल रहा था। इस प्रोजेक्ट को हाल ही में 3.9 बिलियन (करीब 271 करोड़ रुपए) की फंडिंग भी मिली है।